संसद के प्रथम दिन मैंने शून्यकाल में बोलते हुए

  • Posted on: 29 September 2020
  • By: Yogesh
Share it now!

संसद के प्रथम दिन मैंने शून्यकाल में बोलते हुए कहा कि अर्थ व्यवस्था को लॉक डाउन से उबारने के लिए मा. प्रधानमंत्री जी द्वारा सभी बैंकों को आसान शर्तों पर ऋण देने के निर्देश दिए हैं, इसके बावजूद प्राइवेट बैंक ऋण देने में आनाकानी करते हैं। मैंने निवेदन किया कि वित्त मंत्रालय सभी प्राइवेट बैंकों को निर्देशित करे कि वो भी आसान शर्तों तथा ब्याज पर छोटे, मझोले कारोबारियों, किसानों को ऋण प्रदान करें ताकि झांसी ललितपुर सहित सभी देशवासी लाभान्वित हो सकें।